बारह तिरुमुरै पद्य और अर्थ
दानकर्ता दान कीजिए
पहला तिरुमुरै
136 दशके, 1469 पद्य, 88 मन्दिर
001 तिरुप्पिरमबुरम्
 
इस मन्दिर का चलचित्र                                                                                                                   बंद करो / खोलो

 

Get Flash to see this player.


 
काणॊलित् तॊहुप्पै अऩ्बळिप्पाहत् तन्दवर्गळ्
इराम्चि नाट्टुबुऱप् पाडल् आय्वु मैयम्,
५१/२३, पाण्डिय वेळाळर् तॆरु, मदुरै ६२५ ००१.
0425 2333535, 5370535.
तेवारत् तलङ्गळुक्कु इक् काणॊलिक् काट्चिहळ् कुऱुन्दट्टाह विऱ्पऩैक्कु उण्डु.


 
पद्य : 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11
पद्य संख्या : 2 पद्य: नट्टबाडै

முற்றலாமையிள நாகமோடேன முளைக்கொம்பவைபூண்டு
வற்றலோடுகல னாப்பலிதேர்ந்தென துள்ளங்கவர்கள்வன்
கற்றல்கேட்டலுடை யார்பெரியார்கழல் கையால் தொழுதேத்தப்
பெற்றமூர்ந்தபிர மாபுரமேவிய பெம்மானிவனன்றே.

मुट्रलामैयिळ नाहमोडेऩ मुळैक्कॊम्बवैबूण्डु
वट्रलोडुहल ऩाप्पलिदेर्न्दॆऩ तुळ्ळङ्गवर्गळ्वऩ्
कट्रल्गेट्टलुडै यार्बॆरियार्गऴल् कैयाल् तॊऴुदेत्तप्
पॆट्रमूर्न्दबिर माबुरमेविय पॆम्माऩिवऩण्ड्रे.
 
इस मन्दिर का गीत                                                                                                                     बंद करो / खोलो

Get the Flash Player to see this player.

कुरलिसै: तरुमबुरम् प. सुवामिनादऩ्,
उरिमै: वाणि पदिवहम्, काल्वाय् सालै, तिरुवाऩ्मियूर्, सॆऩ्ऩै ६०००४१
www.vanirec.com
 
इस मन्दिर का चित्र                                                                                                                                   बंद करो / खोलो
   

अनुवाद:

हमारे प्रभु कच्छप, भुजंग आदि को आभूषण के रूप में धारण करने वाले है।
कपाल हाथ में लेकर घर-घर भिक्षा प्राप्त करने वाले हैं।
वे मेरे चित्त चोर हैं।
ज्ञानी प्रभु भक्त सद्ग्रंथों के अध्येयता इन सबसे स्तुत्य हैं।
वे सब हाथ जोड़कर नमन कर रहे है।
ब्रह्मापुरम में प्रतिष्ठित वृषभारूढ़ भगवान यही तो हैं।

रूपान्तरकार डॉ.एन.सुन्दरम 2010
சிற்பி